मंगलवार, 13 जुलाई 2010

दोहा श्रृंखला (दोहा क्रमांक - ८६)

वर्षा जल से भरें जब
मैदानी भू-भाग .
हरियाली से लदें  तब
वन, तरुवीथी, बाग़ ..










- विजय तिवारी "किसलय"

6 टिप्‍पणियां: