शुक्रवार, 21 सितंबर 2018

भालचन्द्र स्तोत्र

भालचन्द्र स्तोत्र


लंबोदर, गजमुख, सुमुख,
धूमकेतु, विघ्नेश।
विकट, विनायक, गजकरण,
दंती, कपिल, गणेश।।

- विजय तिवारी "किसलय"
21 सितंबर 2018

सोमवार, 16 अक्तूबर 2017

    जबलपुर के प्रख्यात आर्टिस्ट  श्री कामता सागर जी का  दिनांक 14 अक्टूबर 17 को हृदय गति रुकने से देहावसान हो गया। ग्वारीघाट जबलपुर में अंतिम संस्कार किया गया। 
           यह भारतीय कला जगत एवं मेरी स्वयं की  अपूरणीय क्षति है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे तथा उन्हें अपने चरणों में स्थान दे। ओम शांतिः शांतिः शांतिः।
- विजय तिवारी "किसलय"