शनिवार, 14 फ़रवरी 2009

प्रतीक्षा

प्रेम पर्व पर .....
फूल कहीं
मुरझायें
रोने लगें
नैन
उनकी करुँ
प्रतीक्षा
जिन संग
खोया चैन

- विजय

5 टिप्‍पणियां:

  1. उनकी करुँ
    प्रतीक्षा
    जिन संग
    खोया चैन
    रैन बिन चैन कहाँ .
    बहुत बढ़िया है ,आप भी वेलेंटाइन पर किसी को याद कर रहे है . प्रेम दिवस की शुभकामना , बधाई .

    उत्तर देंहटाएं
  2. प्रेम दिवस पर उत्तम पंक्तियाँ..बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  3. जिसके संग चैन खोया प्रतीक्षा भी उसी की. कितना विचित्र विरोधाभास है.

    उत्तर देंहटाएं
  4. bahut sundar bhaav abhivyakt kiye hai . prateekshaa mai anivarchaneeya annand hai .

    उत्तर देंहटाएं