मंगलवार, 6 जनवरी 2009

दोहा श्रृंखला [दोहा क्र १८]

भूख,प्यास, दुख, बेबसी, मजबूरी का साथ।
कर्महीन इंसान के, लिख जायेगा माथ॥
- विजय

4 टिप्‍पणियां:

  1. आपका बहुत बहुत आभार
    ऐसा ही स्नेह बनाए रखें
    आपका
    - विजय

    उत्तर देंहटाएं
  2. धन्यवाद नीरा जी
    आप मेरे ब्लाग पर आईं और अपनी प्रतिक्रिया दी
    - विजय

    उत्तर देंहटाएं