बुधवार, 28 सितंबर 2011

संस्कारधानी जबलपुर मध्य प्रदेश के ख्यातिलब्ध युवा चित्रकार एवं मूर्तिकार श्री शक्ति प्रजापति आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं.

संस्कारधानी जबलपुर मध्य प्रदेश के ख्यातिलब्ध युवा चित्रकार एवं मूर्तिकार श्री शक्ति प्रजापति आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं. ये महाकौशल सहित पूरे मध्य प्रदेश में अपनी विशिष्ट शैली के लिए विख्यात मूर्तिकार स्वर्गीय श्री कुंदन प्रजापति के उत्तराधिकारी सुपुत्र हैं. पिता जी की विरासत को नए आयाम तक पहुँचाने में काबिल श्री शक्ति जी लगातार साधना में जुटे रहते हैं. श्री शक्ति प्रजापति द्वारा निर्मित प्रतिमाएँ विशिष्ट रंगों, अनुपात, आकार में सामंजस्य बिठाए तो होती ही हैं वहीं इनकी शैली भी अन्य कलाकारों से अनूठी है.
जीवन्तता और माधुर्य का मिलन जब मूर्तिकला में हो तो कला खुद कलाकार की महत्ता बताती है और मैं कह सकता हूँ कि श्री शक्ति भी इन्हीं अग्रगण्य कलाकारों की श्रेणी में आते है. आईये हम आपको श्री शक्ति प्रजापति से, उनकी कला से, उनकी कार्यशाला से और उनके विचारों से रू-ब-रू होते हैं.








- विजय तिवारी "किसलय"


जबलपुर.


3 टिप्‍पणियां: