सोमवार, 30 जून 2008

"अनेकान्त" की काव्य गोष्टी १ जुलाई ०८ को


संस्कारधानी जबलपुर ( म. प्र.) भारत की सुपरिचित साहित्यिक संस्था अनेकांत पिछले अनेक वर्षों से प्रत्येक माह की १ तारीख को काव्य गोष्टी करती चली आ रही है .संस्थाध्यक्ष श्री बल्लभ दास हँसमुख जी का सक्रिय सहयोग इस संस्था को ऊर्जायित करता चला आ रहा है . इसी क्रम में "अनेकान्त" की काव्य गोष्टी १ जुलाई ०८ को पुन: साहू मोहल्ला , कछियाना, जबलपुर में श्री कैलाश चंद जैन के निवास पर रात्रि ८ बजे आयोजित की
गई है .
संस्थाध्यक्ष श्री बल्लभ दास हँसमुख, नलिन सूर्यवंशी "ताज", बृज मोहन नेहरा, प्रतिपाल सिंह अरोरा, डॉ. विजय तिवारी "किसलय" ने साहित्यानुरागियों से उपस्थिति की अपेक्षा की है.
- डॉ. विजय तिवारी "किसलय"
जबलपुर

1 टिप्पणी: